Advertisements

NCERT Solutions for Class 8th – जब सिनेमा ने बोलना सीखा ~ Jab Cinema Ne Bolna Seekha NCERT Solutions

Advertisements

CBSE Class 8 Hindi Chapter 11 Jab Cinema Ne Bolna Seekha NCERT Solutions/Question & Answer PDF Download | CBSE Class 8th जब सिनेमा ने बोलना सीखा के प्रश्न उत्तर/NCERT Solutions :-

स्वागत है आपका 99KH.net पर आज हम आपको CBSE Class 8 Vasant Hindi Chapter 11 Jab Cinema Ne Bolna Seekha NCERT Solutions बताने वाले है। ये क्वेश्चन आपकी आने वाले पेपर्स में काफी मदद कर सकते है, इसलिए इन सभी क्वेश्चन को ध्यान से पढ़े। अगर आपको कोई समस्या आती है तो नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर पूछे।

Jab Cinema Ne Bolna Seekha NCERT Solutions Class 8th ~ Question & Answer

1. जब पहली बोलती फ़िल्म प्रदर्शित हुई तो उसके पोस्टरों पर कौन-से वाक्य छापे गए। उस फिल्म में कितने चेहरे थे? स्पष्ट कीजिए। 

उत्तर:- जब पहली बोलती फिल्म प्रदर्शित हुई तो उसके पोस्टरों पर लिखा था-‘वे सभी सजीव हैं, साँस ले रहे हैं, शत-प्रतिशत बोल रहे हैं, अठहत्तर मुर्दा इंसान जिंदा हो गए; उनको बोलते; बातें करते देखो।”अठहत्तर मुर्दा इंसान जिंदा हो गए’ यह पंक्ति दर्शाती है कि फिल्म में अठहत्तर चेहरे थे अर्थात् फिल्म में अठहत्तर लोग काम कर रहे थे।

2. पहली बोलती फिल्म बनाने के लिए फिल्मकार अर्देशिर एम. ईरानी को प्रेरणा कहाँ से मिली? उन्होंने आलम आरा फिल्म के लिए आधार कहाँ से लिया । विचार व्यक्त कीजिए। 

उत्तर:- फिल्मकार अर्देशिर एम.ईरानी ने 1929 में हॉलीवुड की एक बोलती फिल्म शो ‘बोट’ देखी और तभी उनके मन में बोलती फिल्म बनाने की इच्छा जगी। इस फिल्म का आधार उन्होंने पारसी रंगमंच के एक लोकप्रिय नाटक से लिया।

3. विठ्ठल का चयन आलम आरा फिल्म के नायक के रूप हुआ, लेकिन उन्हें हटाया क्यों गया? विट्ठल ने पुन: नायक होने के लिए क्या किया?अपने विचार प्रकट कीजिए। 

उत्तर:- पहले फिल्म के नायक के लिए विट्ठल का चयन किया गया। परन्तु इन्हें उर्दू बोलने में मुश्किलें आती थीं। इसी कमी के कारण उन्हें हटाकर उनकी जगह मेहबूब को नायक बना दिया गया। पुन: अपना हक पाने के लिए उन्होंने मुकदमा कर दिया। विट्ठल मुकदमा जीत गए और भारत की पहली बोलती फिल्म के नायक बनें।

4. पहली सवाक् फिल्म के निर्माता-निदेशक अर्देशिर को जब सम्मानित किया गया, तब सम्मानकर्ताओं ने उनके लिए क्या कहा था? अर्देशिर ने क्या कहा? और इस प्रसंग में लेखक ने क्या टिप्पणी की है ? लिखिए। 

उत्तर:- पहली सवाक् फिल्म के निर्माता-निर्देशक अर्देशिर को जब सम्मानित किया गया तब सम्मानकर्ताओं ने उन्हें ‘ भारतीय सवाक् फिल्मों का पिता’ कहकर उनका सम्मान किया। इस अवसर पर निर्देशक ने कहा-“मुझे इतना बड़ा सम्मान देने की आवश्यकता नहीं है। मैंने तो देश के लिए अपने हिस्से का जरूरी योगदान दिया है।” इस प्रसंग में लेखक ने टिप्पणी करते हुए कहा है कि वे अत्यंत विनम्र व्यक्ति थे। वे उस सवाक् सिनेमा के जनक थे, जिनकी उपलब्धि को भारतीय सिनेमा के जनक फाल्के को भी अपनाना पड़ा, क्योंकि वहाँ से सिनेमा का एक नया युग शुरू हो गया था।

5. मूक सिनेमा में संवाद नहीं होते, उसमें दैहिक अभिनय की प्रधानता होती है। पर, जब सिनेमा बोलने लगा तो उसमें अनेक परिवर्तन हुए। उन परिवर्तनों को अभिनेता, दर्शक और कुछ तकनीकी दृष्टि से पाठ के आधार से खोजें और साथ ही अपनी कल्पना का भी उपयोग करें। 

उत्तर:- मूक सिनेमा अर्थात ऐसा सिनेमा जिसमें हम कलाकारों को अभिनय करते हुए देखते हैं, पर उनकी आवाज नहीं सुन पाते हैं। उसमें शारीरिक अभिनय की प्रधानता होती है। यही सिनेमा जब बोलने लगा तो उसमें अनेक परिवर्तन हुए। अभिनेता, दर्शक और तकनीकी दृष्टि से जो महत्त्वपूर्ण परिवर्तन हुए वे निम्नलिखित हैं

6. डब फ़िल्म किसे कहते हैं। कभी-कभी डब फ़िल्मों में अभिनेता के मुंह खोलने और आवाज आने  में अंतर आ जाता है। इसका कारण क्या हो सकता है? 

उत्तर:- फिल्मों में जब अभिनेताओं को दूसरे की आवाज़ दी जाती है तो उसे डब कहते हैं।

कभी-कभी फिल्मों में आवाज़ तथा अभिनेता के मुँह खोलने में अंतर आ जाता है क्योंकि डब करने वाले और अभिनय करने वाले की बोलने की गति समान नहीं होती या किसी तकनीकी दिक्कत के कारण हो जाता है।

भाषा की बात  

7. सवाक् शब्द वाक् के पहले स लगाने से बना है। स उपसर्ग से कई शब्द बनते हैं। निम्नलिखित शब्दों के साथ ‘स’ का उपसर्ग की भांति प्रयोग करके शब्द बनाएँ और शब्दार्थ में होने वाले परिवर्तन को बताएं। 

हित, परिवार, विनय, चित्र, बल, सम्मान।

उत्तर:- शब्द-उपसर्ग वाले शब्द 

1.हित-       सहित 

2.परिवार –  सपरिवार 

3.विनय –    सविनय 

4.चित्र-       सचित्र 

5.बल-        सबल 

6.मान-       सम्मान

8. उपसर्ग और प्रत्यय क्या होते हैं।हिन्दी के कुछ उपसर्ग बताइये और पाठ में आए हुये उपसर्ग और प्रत्यय युक्त शब्दों को लिखिए। 

उत्तर:– उपसर्ग और प्रत्यय दोनों ही शब्दांश होते हैं। वाक्य में इनका अकेला प्रयोग नहीं होता। इन दोनों में फर्क बस इतना होता है कि उपसर्ग किसी भी शब्द में पहले लगता है और प्रत्यय शब्द के बाद लगाया जाता है।

हिंदी के सामान्य उपसर्ग इस प्रकार हैं-आ ,अ न, नि,दु,का,कु.स/सु, अध, बिन, औ आदि। 

पाठ में आए उपसर्ग और प्रत्यय युक्त शब्दों के कुछ उदाहरण नीचे दिए जा रहे हैं-

मूल शब्दउपसर्ग प्रत्ययशब्द
वाक्सवाक्
लोचनासुसुलोचना
फ़िल्मकारफ़िल्मकार
कामयाबकामयाबी 

9. इस प्रकार के 15 उपसर्ग और  15 प्रत्यय शब्दों के  उदाहरण खोजकर लिखिए और अपने सहपाठियों को दिखाइए।

उत्तर :- 

मूल शब्द उपसर्गशब्द
पुत्रसुसुपुत्र
घट औघट
सार अनुअनुसार
मुखआमुख 
परिवार सपरिवार
नायकअधिअधिनायक
मरणआमरण
संहार उपउपसंहार
ज्ञान अ अज्ञान
यश सुसुयश
कोणसम समकोण
कर्मसत्सत्कर्म
रागअनुअनुराग
बंध नि निबंध
पकाअध अधपका
मूल शब्द प्रत्ययशब्द
चाचा एरा चचेरा 
लेख क लेखक 
काला पन कालापन 
लड़ आई लड़ाई 
सज आवट सजावट 
अंश तःअंशतः 
सुनार इन सुनारिन 
जल ज जलज 
पर जीवी परजीवी 
ख़ुद आई ख़ुदाई 
ध्यान पूर्वक ध्यानपूर्वक
चिकन आहट चिकनाहट
विशेष तया विशेषतया 
चमक ईला चमकीला 
भारतईयभारतीय 

NCERT Solutions Class 8th ~ Other Chapters

No.Chapter Name
1.ध्वनि
2.लाख की चूड़ियाँ
3.बस की यात्रा
4.दीवानों की हस्ती
5.चिट्ठियों की अनूठी दुनिया
6.भगवान के डाकिये
7.क्या निराश हुआ जाए
8.यह सबसे कठिन समय नहीं
9.कबीर की साखियाँ
10.कामचोर

Leave a Comment

Bhool Bhulaiyaa 2 Box Office Collection Day 2 Petrol Diesel Prices Cut: छह महीने बाद सरकार ने फिर दी राहत Memphis Grizzlies finish Minnesota Timberwolves in 6 for first series win since ’15 KGF Chapter 2 box office collection Day 16: Yash’s film crosses Rs 950 crore milestone Benedict Cumberbatch to house Ukrainian family who fled after Russian attack