Important Questions Class 9th- नाना साहब की पुत्री देवी मैना को भस्म कर दिया गया ~ Nana Saheb ki putri devi maina ko bhasm kar diya

CBSE Class 9 Kshitiz Hindi Chapter Nana Saheb ki putri devi maina ko bhasm kar diya Important Questions | CBSE Class 9 नाना साहब की पुत्री देवी मैना को भस्म कर दिया गया Important Questions :- स्वागत है आपका 99KH.net पर आज हम आपको CBSE Class 9 Kshitiz Hindi Chapter Nana Saheb ki putri devi maina ko bhasm kar diya Important Questions बताने वाले है। ये क्वेश्चन आपकी आने वाले पेपर्स में काफी मदद कर सकते है, इसलिए इन सभी क्वेश्चन को ध्यान से पढ़े।

Nana Saheb ki putri devi maina ko bhasm kar diya

Important Questions Nana Saheb ki putri devi maina ko bhasm kar diya – गद्यांश पर आधारित प्रश्न

1. कानपुर में भीषण हत्याकांड करने के बाद अंग्रेज़ों का सैनिक दल बिठूर की ओर गया। बिठूर में नाना साहब का राजमहल लूट लिया गया पर उसमें बहुत थोड़ी सम्पत्ति अंग्रेज़ों के हाथ लगी। इसके बाद अंग्रेज़ों ने तोप के गोलों से नाना साहब का महल भस्म कर देने का निश्चय किया। सैनिक दल ने जब वहाँ तोपें लगायीं, उस समय महल के बरामदे में एक अत्यन्त सुन्दर बालिका आकर खड़ी हो गयी। उसे देख कर अंग्रेज़ सेनापति को बड़ा आश्चर्य हुआ; क्योंकि महल लूटने के समय वह बालिका वहाँ कहीं दिखाई न दी थी।

1. अंग्रेज़ों ने भीषण हत्याकांड कहाँ किया

  • क. बिठूर
  • ख. कानपुर
  • ग. दिल्ली
  • घ. झाँसी
    • उत्तर- ख. कानपुर

2. नाना साहब का राजमहल कहाँ था

  • क. बिठूर
  • ख. कानपुर
  • ग. सूरत
  • घ. झाँसी
    • उत्तर- क. बिठूर

3. अंग्रेज़ों ने नाना साहब के महल का क्या कर निश्चय किया

  • क. जब्त करना
  • ख. जला डालना
  • ग. तोपों से नष्ट करना
  • घ. दान में देना
    • उत्तर- ग. तोपों से नष्ट करना

4. अंग्रेज़ सेनापति का क्या नाम था

  • क. हे
  • ख. क्लाइव
  • ग. कैनिंग
  • घ. अउटरम
    • उत्तर- घ. अउटरम

5. राजमहल में कौन सा समास है

  • क. द्वंद्व
  • ख. तत्पुरूष
  • ग. अव्ययीभाव
  • घ. द्विगु
    • उत्तर- ख. तत्पुरूष

2. सन 57 के सितम्बर मास में अर्द्धरात्रि के समय चाँदनी में एक बालिका स्वच्छ उज्ज्वल वस्त्र पहने हुए नानासाहब के भग्नावशिष्ट प्रासाद के ढेर पर बैठी रो रही थी। पास ही जनरल अउटरम की सेना भी ठहरी थी। कुछ सैनिक रात्रि के समय रोने की आवाज सुनकर वहाँ गये। बालिका केवल रो रही थी। सैनिकों के प्रश्न का कोई उत्तर नहीं देती थी। इसके बाद कराल रूपधारी जनरल अउटरम भी वहाँ पहुँच गया। वह उसे तुरन्त पहचानकर बोला- ओह! यह नाना की लड़की मैना है! पर वह बालिका किसी ओर न देखती थी और न अपने चारों ओर सैनिकों को देखकर जरा भी नही डरी। जनरल अउटरम ने आगे बढ़कर कहा-अंग्रेज़ सरकार की आज्ञा से मैंने तुम्हें गिरफ़्तार किया।

1. नानासाहब के भग्नावशिष्ट प्रासाद के ढेर पर बैठी कौन रो रही थी।

  • क. मैना
  • ख. मेरी
  • ग. लक्ष्मी
  • घ. बालिका
    • उत्तर- क. मैना

2. भग्नावशिष्ट प्रासाद का आशय है?

  • क. सुंदर महल
  • ख. सुंदर बगीचा
  • ग. टूटा फूटा महल
  • घ. टूटा फूटा घर
    • उत्तर- ग. टूटा फूटा महल

3. कराल रूपधारी कौन था?

  • क. हे
  • ख. क्लाइव
  • ग. कैनिंग
  • घ. अउटरम
    • उत्तर- घ. अउटरम

4. कराल रूपधारी का आशय है?

  • क. डरावने रूप में
  • ख. सुंदर रूप में
  • ग. दयालु रूप में
  • घ. करुण रूप में
    • उत्तर- क. डरावने रूप मे

5. मैना को किसने पहचाना

  • क. सैनिकों ने
  • ख. अउटरम ने
  • ग. सबने
  • घ. किसी ने नही
    • उत्तर- ख. अउटरम ने

Important Questions Nana Saheb ki putri devi maina ko bhasm kar diya ~ Short Questions

प्रश्न :- बालिका मैना ने सेनापति ‘हे’ को कौन-कौन से तर्क देकर महल की रक्षा के लिए प्रेरित किया?
उत्तर-
 बालिका मैना ने सेनापति ‘हे’ को निम्नलिखित तर्क देकर महल की रक्षा के लिए प्रेरित किया-
(1) यह मकान गिराने में आपका क्या उद्देश्य है?
(2) आपके विरुद्ध जिन्होंने शस्त्र उठाये थे, वे दोषी हैं पर इस जड़ पदार्थ मकान ने आपका क्या अपराध किया है?
(3) यह स्थान मुझे बहुत प्रिय है।

प्रश्न :- मैना जड़ पदार्थ मकान को बचाना चाहती थी पर अंग्रेज उसे नष्ट करना चाहते थे। क्यों?
उत्तर- मैना को वह महल प्रिय था क्योंकि वह उसका निवास स्थान था जबकि अंग्रेज उसे नष्ट करना चाहते थे क्योंकि वह 1857 के विद्रोहियों का नामों निशान मिटाकर भविष्य में अंग्रेज शासन को सुरक्षित करना चाहते थे।

प्रश्न :- सर टामस ‘हे’ के मैना पर दया-भाव के क्या कारण थे?
उत्तर- सर टामस ‘हे’ के मैना पर दया-भाव के निम्नलिखित कारण थे-
(1) वह एक दयालु और उदार हृदय के व्यक्ति थे।
(2) जब उन्हे पता चला कि मैना उसकी दिवंगत पुत्री की सखी है तो उसे मैना के प्रति सहानुभूति हो गई।
(3) वे बचपन से मैना के प्रति बेटी के समान प्रेम करते थे।

प्रश्न :- मैना की अंतिम इच्छा थी कि वह उस प्रासाद के ढेर पर बैठकर जी भरकर रो ले लेकिन पाषाण हृदय वाले जनरल ने किस भय से उसकी इच्छा पूर्ण न होने दी?
उत्तर- जनरल अउटरम को इस बात का भय था कि यदि उन्होने मैना के प्रति उदारता दिखाई तो लंदन की सरकार उसपर कड़ी कारवाई करेगी। इंग्लैण्ड की सरकार और जनता के बदला लेने भावना के कारण वह मैना की सहायता नहीं कर सका।

प्रश्न :- स्वाधीनता आंदोलन को आगे बढ़ाने में इस प्रकार के लेखन की क्या भूमिका रही होगी?

उत्तर- समाज के लोगों तक संदेश पहुँचाने में लेखन कला का बहुत महत्वपूर्ण स्थान रहा है। लोगों के मन में अंग्रेज़ी सरकार के प्रति आक्रोश कि भावना जागृत हुई होगी तथा उन्हें मैना के बलिदान से देशभक्ति की प्रेरणा मिली होगी।

प्रश्न :- बालिका मैना के चरित्र की कौन-कौन सी विशेषताएँ आप अपनाना चाहेंगे और क्यों?

उत्तर- मैना की चारित्रिक विशेषताएँ –

  • (1) मैना एक वाक् चतुर बालिका थी।
  • (2) उसके मन में अपनी पैतृक धरोहर के प्रति सम्मान की भावना थी।
  • (3) उसके मन में किसी भी प्रकार का कोई भय नहीं था। वह साहसी थी।
  • (4) उसमें आत्मबलिदान की भावना प्रबल थी।
  • (5) मैना बहुत भावुक थी तभी मकान के जल जाने पर उसका मन दु:खी हो जाता है।

हम मैना की इन सारी विशेषताओं को अपनाना चाहेंगे। उसकी ये विशेषताएँ उसे औरों से अलग बनाती है। इन गुणों से युक्त मनुष्य जीवन पथ पर कभी असफल नहीं होता है। उसे किसी भी प्रकार की शक्ति अपने मार्ग से विचलित नहीं कर सकती है। अतः हम उसके इन गुणों को आत्मसात करके देश तथा परिवार का नाम रोशन करने का प्रयास करेंगे।

प्रश्न :-‘टाइम्स’ पत्र ने 6 सितंबर को लिखा था- ‘बड़े दुख का विषय है कि भारत सरकार आज तक उस दुर्दांत नाना साहब को नहीं पकड़ सकी’। इस वाक्य में ‘भारत सरकार’ से क्या आशय है?
उत्तर- इसका आशय लंदन स्थित बिटिश सरकार है जो ईस्ट इण्डिया कंपनी के माध्यम से देश पर शासन कर रही थी।

Read Also :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *